उत्तरापथ

तक्षशिला से मगध तक यात्रा एक संकल्प की . . .

या देवी सर्वभूतेषु धर्मरूपेण संस्थिता . . .


आज ललिता पंचमी है| आइये स्वाध्याय करें|

गत वर्ष लिखा एक और आलेख सदर ……

या देवी सर्वभूतेषु धर्मरूपेण संस्थिता . . ..

अक्टूबर 20, 2012 Posted by | सामायिक टिपण्णी | टिप्पणी करे

   

%d bloggers like this: